Nirav Modi को जल्द लाया जा सकता है भारत आज से ब्रिटेन में प्रत्यर्पण ट्रायल शुरू

दिल्‍ली सरकार ने स्‍कूलों में गर्मियों की छुट्टी की तारीखों का किया ऐलान

सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को देखते हुए जिला न्यायाधीश सैमुअल गूजी ने नीरव मोदी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अदालत में उपस्थित होने का विकल्प तैयार किया गया। बता दें इससे पहले जज गूजी ने 28 अप्रैल को हुई रिमांड सुनवाई में कहा था कि, कुछ जेलें कोरोना के बीच भी कैदियों को व्यक्तिगत तौर पर पेश कर रही हैं, लेकिन मैं वैंड्सवर्थ जेल को निर्देश देता हूं कि 11 मई के ट्रायल में 49 साल के कारोबारी नीरव मोदी को व्यक्तिगत रूप से पेश ना करके लाइन लिंक के जरिए पेश करे।

केंद्र सरकार का बड़ा ऐलान, EPFO की तरफ से खाताधारकों को दी गई ये विशेष छूट

करीब 13,000 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले में वांछित और भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर सोमवार से अगले पांच दिन तक लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में सुनवाई होगी।

कोर्ट की ओर से केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) के आरोपों पर सुनवाई होगी। नीरव मोदी की लंदन के वैंड्सवर्थ जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट के सामने पेशी हो सकती है. कोरोना वायरस महामारी की वजह से ब्रिटेन में भी लॉकडाउन का पालन किया जा रहा है।

बता दें भारत सरकार ने ब्रिटेन सरकार से नीरव मोदी के प्रत्यर्पण का अनुरोध किया था, जिसके लिए अब सोमवार को नीरव मोदी के खिलाफ धन शोधन और धोखाधड़ी के आरोप में सुनवाई होगी. जिसमें नीरव मोदी के प्रत्यर्पण पर भी विचार किया जा सकता है।

नीरव मोदी के खिलाफ यह मामला केंद्रीय जांच ब्यूरो (Central Bureau of Investigation) और प्रवर्तन निदेशालय की तरफ से दायर किया गया है।

Also, read

सोशल मीडियो पर जामिया की छात्रा को ट्रोल करने पर दिल्‍ली महिला आयोग ने चलाया डंडा, होगी FIR !

शमी की पत्‍नी ने ‘कांटा लगा’ गाने पर दी फरफॉर्मेंस, फैन्‍स ने किए भद्दे कमेंट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *