ईद के चांद को लेकर इमरान के मंत्री की मौलानाओं से तू-तू-मैं-मैं, फवाद चौधरी बोले- ये हक…

कोरोना काल में ईद जैसे पाक त्‍यौहार पर भी पाकिस्‍तान में मौलवियों और इमरान सरकार के बीच तनातनी देखने को मिली। ईद किस दिन होगी इस बात को लेकर ही पाकिस्‍तान के मंत्री फवाद चौधरी आपस में भिड़ते नजर आए।

पाकिस्तान में एक बार फिर चांद का दीदार ‘वैज्ञानिक तरीकों’ बनाम ‘परंपरागत धार्मिक तरीकों’ के बीच की बहस का गवाह बना। उलेमा का कहना है कि धर्म बिना चांद का दीदार किए इसके निकलने की घोषणा करने की इजाजत नहीं देता।

लॉकडाउन में संजय दत्‍त के परिवार पर टूटा पहाड़, मान्‍यता बोली- सब कुछ इतना जल्‍दी में हुआ…

फवाद ने शनिवार को एक बार फिर कहा कि चांद देखने के लिए बनाई गईं रुय्यते हिलाल कमेटियों को भंग करना चाहिए। विज्ञान ने इतनी प्रगति कर ली है कि चांद के निकलने की बिलकुल सही तारीख पहले से बताई जा सकती है। इसके लिए पूरे देश को ‘सस्पेंस’ में नहीं रखा जाना चाहिए।

फवाद ने कहा कि वह इस धारणा के बिलकुल खिलाफ हैं कि चांद को देखने में प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा, “इस्लाम ज्ञान का धर्म है। जो कोई कहता है कि चांद देखने में प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए, मैं उसकी इस राय को खारिज करता हूं। जब आप चश्मा पहनते हैं तो यह भी प्रौद्योगिकी है। आप ऐसे कैसे कह सकते हैं कि चश्मे से देखना तो हलाल (सही) है लेकिन टेलीस्कोप से देखना हराम (गलत) है।”

अभिनेत्री उर्वशी रौतेला ने लगाई सोशल मीडिया पर आग, नाइटवेयर में फोटो शेयर कर कहा…

इसके बाद मुफ्ती ने यहां तक कहा कि ‘सरकार के अंदर कुछ अनजाने मुद्दों के कारण’ कैबिनेट के कई लोग अपना अलग ही रास्ता चुन ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि चौधरी को अपनी ‘निराशाओं और उपेक्षाओं के लिए’ धर्म पर निशाना नहीं साधना चाहिए।

साल 2020 का एक और कहर, कोरोना वायरस के बाद अब टिड्डियों का आतंक..

सरकार बनाम मुफ्ती की यह लड़ाई सोशल मीडिया पा चर्चा का विषय बन गई। एक यूजर ने भारतीय अभिनेता आमिर खान की फिल्म दंगल का एक चित्र पोस्ट कर ट्विटर लिखा कि ‘मुफ्ती और मंत्री में दंगल चल रहा है। देखते हैं कौन जीतता है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *