दवा कंपनियों की इमरान खान को खरी-खरी, भारत से निर्यात रूका तो कोरोना की मौत मरेगा पाकिस्‍तान

पाकिस्‍तान भारत को जितनी मर्जी हेगड़ी दिखा ले लेकिन उसकी भारत पर निर्भारता इतनी अधिक है कि उन्‍हें लौट कर फिर भारत के पास ही आना पड़ता है। पाकिस्तान के दवा उद्योग ने सरकार से आग्रह किया है कि भारत से दवा बनाने में काम आने वाले कच्चे माल के आयात पर प्रतिबंध नहीं लगाया जाए। अगर ऐसा प्रतिबंध लगाया गया तो देश में दवा उत्पादन में 50 फीसदी तक की गिरावट आ सकती है।

शोएब अख्‍तर के बड़े बोल- तीन बाउंसर के बाद चौथी पर कर दूंगा स्‍टीव स्मिथ को आउट

कोरोनवायरस के कारण पहले ही इमरान खान के नेतृत्‍व वाले पाकिस्‍तान में लोगों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में अगर दवा की किल्‍लत होती है तो वहां स्थिति और भी खराब हो जाएगी। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, दवा कंपनियों ने सरकार को खबरदार किया है कि अगर भारत से कच्चे माल के आयात पर रोक लगाई गई तो दवा उत्पादन तो बुरी तरह से प्रभावित होगा ही, साथ ही दवाओं के दाम बेतहाशा बढ़ेंगे और कोविड-19 के खिलाफ पाकिस्तान की लड़ाई भी कमजोर पड़ जाएगी।

VIDEO: मरीन ड्राइव पर ब्‍वायफ्रेंड संग लग्‍जरी कार चलाती दिखी Poonam Pandey, हुई गिरफ्तारी तो अब दी ये सफाई

फार्मासुटिकल मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने कहा कि कोविड-19 महामारी के इस संकटग्रस्त समय में यह जरूरी है कि भारत समेत किसी भी देश से दवा के कच्चे माल के आयात पर प्रतिबंध न लगाया जाए। आज जरूरी है कि पाकिस्तान का दवा उद्योग अपनी पूरी क्षमता से काम करे और इसके लिए अंतर्राष्ट्रीय विक्रेताओं से लगातार कच्चे माल की आपूर्ति जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *